Connect with us

Top News

प्रेम विवाह करने वाली बहन के घर तमंचा लेकर पहुंचा भाई, जान से मारने की दी धमकी….

प्रेम विवाह करने वाली युवती के भाई द्वारा धमकी दी गई है, इस मामले में पुलिस द्वारा कार्रवाई की जा रही है.

Published

on
पीड़िता ने अपनी जान को खतरा बताया है.

डीएसपी सुभाष चंद्र ने बताया कि उनके संज्ञान में यह मामला आया है. प्रेम विवाह करने वाली युवती के भाई द्वारा धमकी दी गई है, इस मामले में पुलिस द्वारा कार्रवाई की जा रही है. वहीं पीड़िता फूलन देवी ने बताया कि वह गांव ढाणी छतरिया की रहने वाली है, 1 जुलाई 2021 को उसकी शादी गांव मल्हार निवासी जयवीर के साथ हुई थी. यह प्रेम विवाह था. इसके बाद से परिवार के द्वारा उसे धमकी दी जा रही थी.

बहन को रक्षा का वचन देकर राखी बंधवाने वाला भाई आज उसकी जान का दुश्मन बन गया है. बहन की खता इतनी है कि उसने अपनी मर्जी से प्रेम विवाह (Love Marriage) किया है. उसका प्रेम विवाह परिजनों को इतना खला है कि हर हाल में बहन को उसकी रक्षा करने का वचन देने वाला भाई तंमचा लेकर उसे मारने उसके घर पहुंच गया. मामला फतेहाबाद (Fatehabad) का है, पीडि़ता की ओर से पुलिस को शिकायत भी की गई है.

इस पूरे घटनाक्रम का एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है, जिसमें साफ दिख रहा है कि एक युवक एक हाथ में तमंचा लिए हुए और दूसरे हाथ में चाकू है. घटना के बाद पीड़िता फूलन देवी मामले की शिकायत लेकर फतेहाबाद के सदर थाने में गई. आरोप है कि जब फूलन देवी सदर थाना फतेहाबाद में पहुंची तो महिला पुलिस कर्मचारी द्वारा कार्रवाई करने की बजाय उसे ही धमकाया गया.

इसकी भी एक वीडियो सामने आई है जिसमें एक पुलिस कर्मचारी शिकायतकर्ता युवती के साथ बहस करती धमकी देती दिखाई दे रही है. अब प्रेमी जोड़े को जान का खतरा बना हुआ है और प्रेमी जोड़े का कहना है कि लड़की का भाई कभी भी उन्हें जान से मार सकता है और पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही. मामले में फतेहाबाद के एसपी द्वारा जल्द कार्रवाई करने का आश्वासन भी दिया गया है.

प्रेम विवाह करने वाली युवती फूलन देवी ने बताया कि वह गांव ढाणी छतरिया की रहने वाली है, 1 जुलाई 2021 को उसकी शादी गांव मल्हार निवासी जयवीर के साथ हुई थी. यह प्रेम विवाह था. इसके बाद से परिवार के द्वारा उसे धमकी दी जा रही थी. आरोप है कि12 नवंबर को उसका भाई उसके घर में पिस्तौल और चाकू लेकर घुस गया और जान से मारने की धमकी दी. जिसकी वीडियो सीसीटीवी में कैद है.

मौके पर उसके ससुराल पक्ष ने डायल 112 पुलिस टीम को फोन किया और पुलिस टीम भी मौके पर पहुंची. आरोप यह भी है कि मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने उसके भाई को हिरासत में नहीं लिया बल्कि उसे जाने दिया. मामले में उसने सदर थाना फतेहाबाद में शिकायत की लेकिन वहां भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है. बल्कि सदर थाना पुलिस में तैनात एक महिला पुलिस कर्मचारी ने उसे धमकाया और थाने में ले जाकर उसके साथ बदतमीजी की.

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Top News

एक बाइक पर 6 युवक सवार होकर मार रहे थे तफरी, पुलिस ने बनाया मुर्गा

फ़तेहाबाद जिले के रतिया बस स्टैंड पर एक बाइक पर तफरी मार रहे 6 युवकों को दुर्गा शक्ति टीम ने पकड़ लिया और उनको मुर्गा बनाकर माफी मंगवाई. हालांकि युवकों द्वारा माफी मांगे जाने पर पुलिस ने उनको छोड़ दिया.

Published

पुलिस ने युवकों को पकड़ कर बनाया मुर्गा

हरियाणा के फ़तेहाबाद जिले के रतिया बस स्टैंड पर एक बाइक पर तफरी मार रहे 6 युवकों को दुर्गा शक्ति टीम ने पकड़ लिया और उनको मुर्गा बनाकर माफी मंगवाई. हालांकि युवकों द्वारा माफी मांगे जाने पर पुलिस ने उनको छोड़ दिया. युवकों के मुर्गा बनने की वीडियो सोशल मीडिया पर भी काफी वायरल हो रही है. वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि एक ही बाइक पर 6 युवक खतरनाक तरीके से सफर कर रहे हैं.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, रतिया बस स्टैंड पर सुबह व दोपहर को अनेक छात्राएं स्कूल जाने व घर आने के लिए एकत्रित होती हैं. ऐसे में बस स्टैंड पर अनेक युवक भी आते हैं और छेड़छाड़ की घटनाएं होती हैं. इस मामले में बस स्टैंड इंचार्ज हरबंस सिंह ने रतिया थाना प्रभारी को शिकायत देकर ऐसे युवकों पर कार्रवाई की मांग की थी.

बस स्टैंड इंचार्ज की शिकायत के बाद बस स्टैंड पर रतिया थाना प्रभारी ने सुबह 8 से 10 व दोपहर 12 से 3 बजे तक यहां पर दुर्गा शक्ति की गाड़ी को नियुक्त किया है. इस दौरान जब एक ही बाइक पर जान को खतरे में डालकर बस स्टैंड पहुंचे 6 युवक आए तो दुर्गा शक्ति के कर्मचारियों ने उनको पकड़ लिया. पुलिस ने सरेराह इन युवकों को नैतिक सजा दी. पुलिस ने बस स्टैंड परिसर में सभी 6 युवकों को मुर्गा बनाया.

वहीं पुलिस ने इन युवकों को भविष्य में ऐसी गलती दोबारा न दोहराने की हिदायत भी दी. दुर्गा शक्ति वाहन इंचार्ज रामेश्वर ने बताया कि यह युवक जान जोखिम में डालकर बाइक पर सवार थे. यह युवक खुद की मुर्गा बनकर अपनी गलती मानते रहे. नैतिकता के आधार पर उनको सजा दी गई है. उनकी ड्यूटी यहां पर महिलाओं व बच्चों की सुरक्षा के लिए है और इसके लिए ही वह यहां पर ड्यूटी दे रहे हैं. इन युवकों ने अपनी गलती मानते हुए स्वयं की मुर्गा बनकर गलती मानी. इसके बाद उनको चेतावनी देकर छोड़ दिया गया.

Continue Reading

Top News

हरियाणा में दंपती सहित 6 की सड़क हादसे में हुई मौत: कैथल में बारात से लौट रही कार दूसरी कार से टकराई, मरने वालों में 4 बाराती

हादसा इतना जबरदस्त था कि दोनों कारें पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। दो की मौके पर मौत हुई, जबकि अन्य को अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। चार घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

Published

कैथल के पाई गांव में दो कारों में भीषण टक्कर के बाद कार के परखच्चे उड़ गए।

हरियाणा के कैथल जिले के गांव पाई में मंगलवार सुबह दो कारों की आमने-सामने टक्कर हो गई। हादसे में 4 बारातियों समेत 6 की मौत हो गई। मृतकों में एक दंपती शामिल है। हादसा इतना जबरदस्त था कि दोनों कारें पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। दो की मौके पर मौत हुई, जबकि अन्य को अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। चार घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

पुंडरी से जींद गई थी बारात
कैथल के पुंडरी निवासी राहुल की बारात जींद की सैनी धर्मशाला में गई थी। एक कार में सवार बाराती घर लौट रहे थे। उनकी कार जब गांव पाई के पास पहुंची तो दूसरी कार से सामने टक्कर हो गई। दूसरी कार में सवार लोग कुरुक्षेत्र के दाबखेड़ी गांव से जींद के मलार गांव में जा रहे थे। ये अपनी बीमार मां से मिलकर गांव लौट रहे थे।

मृतक विनोद और उसकी पत्नी बाला का फाइल फोटो।

मरने वालों में पति-पत्नी भी
पाई गांव के पास दोनों कारों की आमने-सामने हुई टक्कर में जींद की तरफ जा रही कार में विनोद, बाला, सोनिया और विराज सवार थे। विनोद और उसकी पत्नी बाला की मौत हो गई। जबकि विराज और सोनिया घायल हैं। दूसरी तरफ बारात से लौट रही कार के ड्राइवर बरेली निवासी सत्यम, सैनी मोहल्ला पुंडरी निवासी रमेश, नरवाना निवासी अनिल, हिसार निवासी शिवम की मौत हो गई। दो बाराती सतीश और बलराज घायल हैं।

जींद के अपराही मोहल्ला में भी मातम
जींद के अपराही मोहल्ला में स्वर्गीय रामधारी नंबरदार के छोटे भाई नरेश नंबरदार की बेटी निशु की शादी थी। बारात पुंडरी से जींद की सफीदों गेट सैनी धर्मशाला में आई थी। बारात की एक कार पुंडरी लौटते समय कैथल के गांव पाई के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। हादसे की सूचना जींद में करीब साढ़े 9 बजे पहुंची। वहां भी मातम पसर गया।

सुबह 6 बजे निकली डोली
निशु, जिसकी शादी थी, के पिता नरेश नंबरदार की जींद सब्जी मंडी में आढ़ती है। मंडी में इनकी 34 नंबर दुकान है। कुछ बाराती अपने-अपने वाहनों में अल सुबह 2 से 3 बजे ही निकल गए थे। डोली सुबह करीब 6 बजे गई थी। कुछ बाराती इसके साथ ही निकले थे। डोली के साथ निकलने वाले रिश्तेदार आमतौर पर काफी करीबी ही होते हैं।

हादसे के बाद शवों को दोनों कारों से निकाला गया।

तीन दिन पहले ही पड़ोस में हुई थी मौत
नरेश नंबरदार के पड़ोस में तीन दिन पहले गली में ही बलजीत नामक व्यक्ति की अचानक ही मौत हो गई थी। उनकी मौत से भी गली में मातम था। इसको देखते हुए निशु की शादी बड़े सादे ढंग की गई।

पुलिस से पहले ग्रामीणों ने शुरू कर दिया था बचाव कार्य
पाई गांव के पास हादसे की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। इससे पहले ग्रामीणों की भीड़ लग गई थी, जो बचाव कार्य में लगे थे। हादसे के बाद एक कार पेड़ से टकरा गई थी। घटनास्थल पर क्षतिग्रस्त कारों का सामान बिखरा पड़ा था। शव गाड़ियों में ही फंसे थे। पुलिस ने घायलों और दो शवों को अस्पताल पहुंचाया। मरने वालों की संख्या 6 हो गई।

कैथल में हुए हादसे को लेकर कार्रवाई करती पुलिस।

नव वधु के स्वागत की थी तैयारी, हादसे की सूचना पहुंची
बारात की गाड़ी और दूसरी कार की टक्कर से 4 बारातियों की मौत की सूचना पुंडरी पहुंची तो शादी वाले घर में मातम पसर गया। जिस घर में नव वधु के स्वागत की तैयारी चल रही थी, वहां शवों की सूचना पहुंची। नाच गाना रुक गया। दूसरी तरफ विनोद और बाला की मौत से उनकी बीमार मां की हालत और बिगड़ गई।

Continue Reading

Top News

चंडीगढ़ के ‘लंगर बाबा’ जगदीश अहूजा का निधन,पी.जी.आई के बाहर 21 सालों से लगा रहे थे लंगर…

जगदीश आहूजा भारत-पाकिसतान के बंटवारे के महज 12 साल की उम्र में पंजाब के मानसा शहर आए थे. जिंदा रहने के लिए रेलवे स्टेशन पर उन्हें नमकीन दाल बेचनी पड़ी, ताकि उन पैसों से खाना खाया जा सके और गुजारा हो सके. कुछ समय बाद वह पटियाला चले गए और गुड़ और फल बेचकर जिंदगी चलाने लगे और फिर 1950 के बाद करीब 21 साल की उम्र में आहूजा चंडीगढ़ आ गए थे.

Published

चंडीगढ़ के लंगर बाबा का निधन

पीजीआई के बाहर पिछले 21 सालों से लंगर लगाने वाले जगदीश अहूजा का सोमवार को निधन हो गया. जगदीश अहूजा लंगर बाबा के नाम से जाने जाते थे. जगदीश अहूजा करीब पिछले 21 सालों से पी.जी.आई के बाहर लंगर लगा रहे थे. उन्हें 2020 में राष्ट्रपति से पद्मश्री अवार्ड भी मिला था. वो रोजाना करीब 4 से 5000 लोगों को लंगर खिलाते थे.

बता दें कि पीजीआई चंडीगढ़ के सामने जगदीश आहूजा लगातार लंगर लगाते आ रहे थे. इसके लिए उन्होंने अपनी कई प्रॉपर्टी तक बेच दी थी. उनका कहना है कि लंगर सेवा करके उन्हें काफी सुकून मिलता है. पटियाला में उन्होंने गुड़ और फल बेचकर अपना जीवनयापन शुरू किया था. 1956 में लगभग 21 साल की उम्र में चंडीगढ़ आ गए. उस समय चंडीगढ़ को देश का पहला योजनाबद्ध शहर बनाया जा रहा था. यहां आकर उन्होंने एक फल की रेहड़ी किराए पर लेकर केले बेचना शुरू किया.

चंडीगढ़ में एक रेहड़ी से शुरुआत करने वाले लंगर बाबा के जीवन का सफर आसान नहीं रहा. पीजीआई के बाहर लगने वाले पूरे लंगर की देखरेख खुद करते थे. कैंसर होने से पहले वह खुद गाड़ी में दो से तीन हजार लोगों को खाना खिलाते रहे. आहूजा ने कड़े संघर्ष से चंडीगढ़ और आसपास काफी प्रॉपर्टी बनाई, लेकिन लंगर के लिए अपनी कोठी तक बेच दी.

कोरोना काल में भी प्रशासन के निर्देशों के कारण सिर्फ सात दिन पीजीआइ के बाहर लंगर को रोकना पड़ा था, आहूजा की इच्छा थी कि वह चंडीगढ़ में जरुरतमंदों के लिए एक सराय का निर्माण करवा सकें, जिसके लिए उन्होंने चंडीगढ़ प्रशासन से जमीन देने की मांग की हुई थी.

लंगर वाले बाबा ने एक बार बताया था कि जब वो लोगों को भूखे पेट सड़क पर देखता हैं तो बैचेनी होने लगती थी. अपने बेटे के आठवें जन्मदिन पर मैंने 100 से 150 बच्चों को खाना खिलाना शुरू किया. लगभग 18 साल तक सेक्टर-23 में घर के पास लंगर चलाया. उसके बाद 2001 से पीजीआई के बाहर हर दिन लंगर लगाना शुरू कर दिया था.

Continue Reading

Featured Post

Top News1 महीना पूर्व

पूछताछ में खुलासा: इंटर स्टेट साइबर फ्राॅड गैंग का गुर्गा गिरफ्तार, एटीएम कार्ड बदलकर फर्जी जनरल स्टाेर के नाम पर ली स्वाइप मशीन से करते थे खाते खाली

पूछताछ में खुलासा: इंटर स्टेट साइबर फ्राॅड गैंग का गुर्गा गिरफ्तार, एटीएम कार्ड बदलकर फर्जी जनरल स्टाेर के नाम पर...

Top News1 महीना पूर्व

आरसी फर्जीवाड़ा:पुलिस कैंसिल करेगी गाड़ियाें का पंजीकरण, मालिकों को दोबारा रजिस्ट्रेशन करा कोर्ट से लेनी होगी गाड़ी

आरसी फर्जीवाड़ा:पुलिस कैंसिल करेगी गाड़ियाें का पंजीकरण, मालिकों को दोबारा रजिस्ट्रेशन करा कोर्ट से लेनी होगी गाड़ी

Top News2 महीना पूर्व

हमला करके गंभीर चोट पहुँचाने व मोबाइल छीनने के चार आरोपी गिरफ्तार

कुरुक्षेत्र। जिला पुलिस कुरुक्षेत्र ने सामूहिक हमला करके गंभीर चोट पहुँचाने व मोबाइल छीनने के चार आरोपियो को गिरफ्तार किया...

Top News2 महीना पूर्व

नशीली दवाईयां बेचने के आरोप में दो गिरफ्तार

Top News3 महीना पूर्व

सिपाही पेपर लीक मामले में 2 लाख रुपए का ईनामी अपराधी मुजफ्फर अहमद सीआईए-1 पुलिस द्वारा जम्मु से गिरफ्तार

सिपाही पेपर लीक मामले में कैथल पुलिस को बडी कामयाबी

Recent Post

Trending

Copyright © 2018 Chautha Khambha News.

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh online Market