Connect with us

असम

आग लगने से आठ व्यापारिक प्रतिष्ठान राख, लाखों का नुकसान

कुछ लोगों का मानना है कि आग उपद्रवी तत्वों द्वारा जान-बूझकर लगाई गई है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। 

Published

on

होजाई (असम), होजाई जिला शहर के मुस्लिम पट्टी में सोमवार की तड़के सुबह अचानक लगी भयावह आग में आठ व्यापारिक प्रतिष्ठान पूरी तरह से जलकर राख हो गए।
पुलिस के अनुसार सोमवार की तड़के जिला शहर के मुस्लिम पट्टी में लगी अचानक आग में देखते ही देखते आठ व्यापारिक प्रतिष्ठान पूरी तरह जलकर राख हो गए। अग्निशमन विभाग की कई गाड़ियों ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया। आग बुझाए जाने तक लगभग 20 लाख रुपये से अधिक की संपत्ति जलकर राख हो गई। आग कैसे लगी इस बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है। अंदेशा जताया गया है कि बिजली के शार्ट सर्किट की वजह से आग लगी होगी। हादसे में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। इस घटना से व्यापारियों में मायूसी छा गई है। कुछ लोगों का मानना है कि आग उपद्रवी तत्वों द्वारा जान-बूझकर लगाई गई है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। 

द्वारा-नसीब सैनी/अभिषेक महेरा

 

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Top News

पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने 9 मेल व एक्सप्रेस के साथ ही 52 पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन बहाल किया

—सूत्रों ने बताया है कि असम क्षेत्र में कानून और व्यवस्था की स्थिति में सुधार के साथ ही पश्चिम बंगाल के प्रभावित क्षेत्रों में ट्रेनों का परिचालन शुरू करने, फंसे हुए यात्रियों की समस्या को कम करने के लिए कुछ लंबी दूरी की ट्रेनें चलाने का पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने निर्णय लिया है

Published

गुवाहाटी,(नसीब सैनी)।

असम समेत पूर्वोत्तर में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरुद्ध हिंसक आंदोलन के कारण पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने बाधित की गई लंबी दूरी की 9 ट्रेन व 52 पैसेंजर ट्रेनों की सेवा बुधवार को बहाल कर दी है। दरअसल पैसेंजर ट्रेनों के साथ ही पश्चिम बंगाल और दक्षिण भारत की ओर जाने वाली ट्रेनों का परिचालन पूरी तरह से बंद कर दिया गया था। सिर्फ गुवाहाटी और कामाख्या रेलवे स्टेशन से लंबी दूरी की ट्रेनें चल रही थीं। इससे पहले असम समेत पूरे पूर्वोत्तर में हालात सामान्य होने के बाद मंगलवार से कुछ पैसेंजर ट्रेनों की सेवा बहाल हुई थी।

सूत्रों ने बताया है कि असम क्षेत्र में कानून और व्यवस्था की स्थिति में सुधार के साथ ही पश्चिम बंगाल के प्रभावित क्षेत्रों में ट्रेनों का परिचालन शुरू करने, फंसे हुए यात्रियों की समस्या को कम करने के लिए कुछ लंबी दूरी की ट्रेनें चलाने का पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने निर्णय लिया है। पूसीरे ने बताया है कि बुधवार को पश्चिम बंगाल के मालदा होकर कुल नौ ट्रेनें चलाई जा रही हैं।

चलाई जाने वाली ट्रेनों में मुख्यतः डिब्रूगढ़ – हावड़ा कामरूप एक्सप्रेस, सिलचर – त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस, सिलचर – सियालदह कंचन जंघा एक्सप्रेस, सिलघाट टाउन – कोलकाता काजीरंगा एक्सप्रेस, गुवाहाटी – कोलकाता गरीब रथ एक्सप्रेस, हावड़ा – डिब्रूगढ़ कामरूप एक्सप्रेस, सियालदह – सिलचर कंचनजंघा एक्सप्रेस, कोलकाता – बालुरघाट एक्सप्रेस, हावड़ा – गुवाहाटी सराइघाट एक्सप्रेस शामिल हैं। रेलवे के अनुसार कम दूरी की 52 पैसेंजर गाड़ियों की सेवा भी बुधवार से शुरू की जा रही है। स्थानीय पैसेंजर और इंटरसिटी ट्रेनों की सेवाओं को बहाल किया जा रहा है।

नसीब सैनी

Continue Reading

Top News

मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल नहीं होने से नाराज ऑनलाइन कैब ड्राइवर करेंगे आंदोलन

—लगभग एक सप्ताह से मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद होने से गाड़ियों की बुकिंग नहीं हो पा रही है

Published

गुवाहाटी,(नसीब सैनी)।

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध में राज्य में हिंसक आंदोलन के बाद मोबाइल इंटरनेट सेवा को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद होने से सबसे अधिक परेशानी का सामना ऑन लाइन कारोबार करने वालों पर पड़ रहा है। इनमें परिवहन सेवा ओला-उबेर समेत अन्य संस्थान हैं। एक अनुमान के अनुसार 12 हजार ओला-उबेर चालकों का कारोबार प्रभावित हुआ है।

लगभग एक सप्ताह से मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद होने से गाड़ियों की बुकिंग नहीं हो पा रही है। इसके चलते ड्राइवरों की रोजी-रोटी प्रभावित हो रही है। असम कैब आपरेटर्स यूनियन के अध्यक्ष इस्माइल अली ने चेतावनी दी है कि अगर जल्द मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल नहीं होती है तो ओला-उबेर के लगभग 12 हजार ड्राइवर सड़कों पर उतर कर आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे।

अली ने कहा है कि हमारे जीवीकोपार्जन का एकमात्र जरिया वाहन चलाना है लेकिन इंटरनेट सेवा बंद होने से ड्राइवरों के सामने घर चलाना मुश्किल हो गया है। हमें अपना परिवार चलाना कठिन हो गया है। उन्होंने कहा कि एक टैक्सी ड्राइवर 15 घंटा गाड़ी चलाता है तो बदले में उसे 1000 से 1500 रुपये की आमदनी होती है। अधिकांश ड्राइवर प्रतिमाह दस हजार रुपये अपनी गाड़ी की ईएमआई जमा करते हैं। ऐसे में गाड़ियों के नहीं चलने से ईएमआई से लेकर परिवार चलाने की स्थिति जटिल हो गई है। साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य में सीएए को लेकर जारी आंदोलन का ड्राइवरों ने अपना पूरा समर्थन दिया है।

गुवाहाटी में कैब सेवा के बंद होने का फायदा उठाते हुए प्राइवेट टैक्सी ड्राइवर ग्राहकों को मनमाने रूप से लूट रहे हैं। अली ने बताया कि मात्र दो से तीन किमी के लिए आटो रिक्शा या अन्य वाहन 500 रुपये तक ग्राहकों से वसूल रहे हैं। यह ग्राहकों के साथ भी अन्याय है। उन्होंने प्रशासन से अति शीघ्र मोबाइल इंटरनेट सेवा को बहाल करने की मांग की है।

नसीब सैनी

Continue Reading

Top News

पूर्वोत्तर हिंसा : गुवाहाटी से हटा कर्फ्यू, डिब्रूगढ़ में रात 8 बजे तक ढील

—नये कानून के विरूद्ध सुप्रीम कोर्ट में आसू समेत देशभर से लगभग 25 याचिकाएं दाखिल की गई हैं, जिन पर 18 दिसम्बर को पहली सुनवाई होगी

Published

गुवाहाटी,(नसीब सैनी)।

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर राज्य में बुधवार से जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच मंगलवार को राजधानी गुवाहाटी से कर्फ्यू को पूरी तरह से हटा लिया गया है। डिब्रूगढ़ में सुबह 06 से रात 08 बजे तक कर्फ्यू में ढील दी गई है। जबकि अन्य इलाकों से भी कर्फ्यू हटा लिया गया है।

पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों अरुणाचल प्रदेश, नगालैंड, मेघालय आदि में भी विरोध प्रदर्शन जारी है। हालांकि त्रिपुरा में आंदोलन पूरी तरह से समाप्त हो गया है, कुछ संगठन जरूर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। मिजोरम और मणिपुर में भी सामान्य रूप से आंदोलन हो रहा है। राजधानी गुवाहाटी में सड़कों पर चहल-पहल सामान्य हो गई है जबकि राज्य के अन्य हिस्सों में भी स्थिति सामान्य देखी जा रही है।

डिब्रूगढ़ और गुवाहाटी में बुधवार को आंदोलन के हिंसक होने के बाद कर्फ्यू लगाया गया था। हालांकि रविवार से ही कर्फ्यू में धीरे-धीरे ढील दी जा रही है। हालांकि मोबाइल इंटरनेट सेवा अभी भी बंद है लेकिन ब्राडबैंड इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई है। इसके चलते मुख्य रूप से मीडिया के लिए काम करना आसान होगा। हालांकि अभी भी राज्य में अखिल असम छात्र संस्था (आसू), असम जातीयतावादी युवा छात्र परिषद (अजायुछाप) समेत अन्य संगठनों ने अपना शांतिपूर्ण आंदोलन जारी रखने का निर्णय लिया है। इसके चलते राज्य में सीएए को लेकर तनाव अभी भी कायम है।

गुवाहाटी में हालात पूरी तरह से सामान्य दिखाई दे रहे हैं। सरकारी कार्यालय, पेट्रोल पंप, रसोई गैस की एजेंसियां, डाक घर आदि खुल गए हैं। बाजारों में भी पूरी तरह से रौनक दिखाई दे रही है। सब्जी व मछली बाजारों में भी खरीददारों की भीड़ पूर्व की तरह देखी जा रही है। हालांकि सामानों के दामों में काफी वृद्धि देखी जा रही है, क्योंकि ट्रेनों को आवागमन बंद होने से बाहर से सामान्य राज्य में नहीं पहुंच रहे हैं। इसके चलते धीरे-धीरे अत्यावश्यक सामानों की किल्लत भी होने की जानकारी मिल रही है।

 नये कानून के विरूद्ध सुप्रीम कोर्ट में आसू समेत देशभर से लगभग 25 याचिकाएं दाखिल की गई हैं, जिन पर 18 दिसम्बर को पहली सुनवाई होगी। स्कूल और कालेज फिलहाल आगामी 22 दिसम्बर तक बंद हैं। इस बीच असम कर्मचारी परिषद ने 18 दिसम्बर को एक दिन के लिए अपना कामकाज बंदकर आंदोलन को अपना समर्थन देने की घोषणा की है।

कानून व्यवस्था को संभालने के लिए पुलिस प्रशासन संवेदनशील इलाकों में विशेष ऐहतियात बरत रही है। केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को भी कुछ इलाकों में तैनात किया गया है। गत बुधवार से मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद होने के चलते लोगों को काफी परेशानी हो रही है। प्रशासन ने मंगलवार की शाम 7 बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद रखने का ऐलान किया था। माना जा रहा है कि आज भी मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल नहीं हो पाएगी। इंटरनेट के बंद होने से मीडिया को भी काफी दिक्कतें हो रही हैं। 

नसीब सैनी

Continue Reading

Featured Post

Top News1 वर्ष पूर्व

रॉबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी पर 5 फरवरी तक जारी रहेगी रोक

---हाईकोर्ट जस्टिस मनोज कुमार गर्ग की कोर्ट ने अधिवक्ता भंवरसिंह मेड़तिया के निधन के बाद कोर्ट में 3.45 बजे रेफरेंस...

Top News1 वर्ष पूर्व

बिजनौर कोर्ट शूटकांड : हाईकोर्ट ने डीजीपी और अपर मुख्य सचिव (गृह) को किया तलब

---दरअसल, बिजनौर में 28 मई को नजीबाबाद में हुई बसपा नेता हाजी अहसान व उनके भांजे शादाब की हत्या के...

Top News1 वर्ष पूर्व

निर्भया केस: दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका खारिज, फांसी की सजा बरकरार

---सुप्रीम कोर्ट ने कहा-पुनर्विचार याचिका में कोई नए तथ्य नहीं, इसलिए ख़ारिज होने योग्य

Top News1 वर्ष पूर्व

कतर टी-10 लीग पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की आईसीसी ने शुरु की जांच

--उल्लेखनीय है कि कतर टी-10 लीग का आयोजन सात से 16 दिसम्बर तक कतर क्रिकेट संघ ने किया था

Top News1 वर्ष पूर्व

बिजनौर कोर्ट रूम में हुई हत्या मामले में चौकी प्रभारी समेत 18 पुलिसकर्मी सस्पेंड

---एसपी ने बताया कि कोर्ट में दिनदहाड़े कुख्यात बदमाश शाहनवाज की हत्या के बाद जजी परिसर में सुरक्षा की पोल...

Recent Post

Trending

Copyright © 2018 Chautha Khambha News.

Web Design BangladeshBangladesh online Market