Connect with us

Uncategorized

नरगिस दत्त अभिनेत्री नहीं डाक्टर बनना चाहती थीं

नई दिल्ली, 31 मई।

हिन्दी सिनेमा की बेहतरीन अदाकारा नरगिस दत्त

हिन्दी सिनेमा की बेहतरीन अदाकारा नरगिस दत्त का कल 01 जून को 89वां जन्मदिन है। हिन्दी फिल्म जगत में अपने शानदार अभिनय से लोगों के दिलों पर राज करने वाली नरगिस दत्त बचपन में अदाकारा नहीं बल्कि डॉक्टर बनना चहती थीं।
कलकत्ता (अब कोलकाता) में 1929 को जन्मी नरगिस दत्त के घर का महौल पूरा फिल्मी था| उनकी मां जद्दन बाई एक अभिनेत्री और फिल्म निर्माता थीं। इसके बावजूद नरगिस का रुझान कभी अभिनय की तरफ नहीं रहा। नरगिस की मां जद्दन बाई उन्हें अभिनेत्री बनाना चाहती थीं| एक बार जद्दन बाई ने नरगिस को उस समय के मशहूर निर्माता-निर्देशक महबूब खान के पास स्क्रीन टेस्ट के लिए जाने को कहा| नरगिस फिल्मी जगत में जाने की तमन्ना नहीं रखती थीं| उन्होंने सोचा कि अगर मैं स्क्रीन टेस्ट में फेल हो जाती हूं फिर तो कोई विकल्प नहीं बचेगा। ऐसे में नरगिस ने स्क्रिन टेस्ट में महबूब के सावलों के जवाब बड़े अनमने ढंग से दिया| नरगिस को विश्वास था कि वह फेल हो जाएंगी, लेकिन नरगिस का सोचना बिल्कुल गलत निकला| महबूब खान ने उन्हें अपनी अगली फिल्म तकदीर (1943) के लिए सेलेक्ट कर लिया। इसके बाद नरगिस दत्त ने महबूब खान द्वारा ही निर्मित फिल्म हुुमायुं (1945) में भी काम किया।
नरगिस दत्त के फिल्मी करियर में 1949 में आई ‘बरसात’ और ‘अंदाज’ फिल्मों ने उन्हें अभिनय के अलग मुकाम पर पहुंचाया। ‘अंदाज’ में नरगिस दत्त के साथ दिलीप कुमार और राजकपूर जैसे मशहूर अभिनेता होने के बावजूद नरगिस ने अपने अभिनय से लोगों का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित कर लिया था।
दो फिल्मों की जबरदस्त सफलता के बाद नरगिस के लिए 1950-1954 तक का दौर बहुत बुरा रहा। इस दौरान उनकी 8 से ज्यादा फिल्में बाक्स ऑफिस पर असफल रही| इसमें बेवफा, आशियाना,अनहोनी, शिकस्त, पापी, धुन और अंगारे फिल्में थी।
इसके बाद 1955 में आई फिल्म श्री-420 ने उन्हें एकबार फिर शोहरत की बुलंदियों पर पहुंचा दिया| इस फिल्म में नरगिस दत्त के साथ राजकुमार भी थे। नरगिस दत्त के फिल्मी करियर में राजकपूर के साथ जोड़ी खूब पसंद की गई। इसमें आग, बरसात, जान-पहचान, प्यार, आवारा, अनहोनी, आशियाना, धुन, पापी, श्री 420, जागते रहो,चोरी-चोरी, जैसी सफल फिल्में शामिल हैं।
वर्ष 1957 में आई फिल्म ‘मदर इंडिया’ नरगिस दत्त के सिने करियर में बहुत महत्वपूर्ण साबित हुआ। इस फिल्म में नरगिस सुनील दत्त की मां बनी थीं। इस फिल्म से बहुत ही दिलचस्प वाक्या जुड़ा हुआ है। फिल्म के एक सीन के दौरान सेट पर आग लग गई| तब सुनील दत्त ने नरगिस को आग से बचाया था। इसके बाद सुनील और नरगिस की प्रेम कहानी शुरु हुई थी। नरगिस दत्त ने तब बोला भी था कि आज पुरानी नरगिस की मौत हो गई और नई नरगिस का जन्म हुआ है। इसके बाद नरगिस ने अपनी स्टारडम के परवाह किए बिना 1958 में सुनील दत्त से शादी कर ली। शादी के बाद नरगिस ने फिल्मों में काम करना कम कर दिया। हालांकि 10 साल बाद 1967 में अपने भाई अनवर और अख्तर के कहने पर फिल्म ‘रात दिन’ में काम किया। इस फिल्म में नरगिस दत्त के अभिनय की खूब तारीफ हुई। इसके बाद नरगिस को इस फिल्म के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से भी नवाजा गया। आपको बता दें कि नरगिस पहली हिन्दी फिल्म अभिनेत्री थी जिन्हे इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा नरगिस वह पहली अदाकारा थीं जिन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया था| साथ ही वह पहली राज्यसभा सदस्य भी रही।
लगभग 55 फिल्मों में अपने अदाकारी से लोगों के दिलों पर राज करने वाली नरगिस दत्त 03 मई, 1981 को दुनिया को अलविदा कह दिया। 

चौथा खंभा न्यूज़ .com / नसीब सैनी/अभिषेक मेहरा

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Top News

24 घंटे के लिए पूरे हरियाणा में पेट्रोल पंप रहेंगे बंद ; केवल इमरजेंसी में मिलेगा; पहले से ही व्यवस्था करके रखें

प्रदेश के पंप संचालकों ने 24 घंटे की हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है। अगर यह हड़ताल होती है तो 15 नवंबर सुबह 6 बजे से 16 नवंबर सुबह 6 बजे तक पंप पूरी तरह से बंद रहेंगे। न पेट्रोल मिलेगा, न ही डीजल।

Published

हरियाणावासी 15 नवंबर को अपना वाहन लेकर घर से निकलें तो सावधान रहें। पेट्रोल-डीजल नहीं मिलेगा, क्योंकि उस दिन 24 घंटे के लिए प्रदेशभर के पेट्रोल पंप बंद रहेंगे। प्रदेश के पंप संचालकों ने 24 घंटे की हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है। अगर यह हड़ताल होती है तो 15 नवंबर सुबह 6 बजे से 16 नवंबर सुबह 6 बजे तक पंप पूरी तरह से बंद रहेंगे। न पेट्रोल मिलेगा, न ही डीजल। लेकिन इमरजेंसी होने पर मिलेगा। फिर भी समय रहते ऑयल की अव्यवस्था कर लें।

यह जानकारी अंबाला पेट्रोलियम वेलफेयर डीलर्स एसोसिएशन प्रधान रविंद्र ढिल्लो ने दी। उन्होंने बताया कि समय रहते मांगें पूरी नहीं होती तो हड़ताल रहेगी। पेट्रोल-डीजल की न खरीद होगी और न ही बेचा जाएगा। उनकी मांगें हैं कि हरियाणा में पेट्रोल, डीजल पर लगने वाले वैट को घटाकर पंजाब राज्य के घटे हुए वैट के बराबर कर दिया जाए। 2007 से जो डीलर कमिशन ही नहीं बढ़ाई गई है, उसमें बढ़ोतरी की जाए। नकली डीजल पर भी पूरी तरह से रोक लगाई जाए।

लेकिन लंबे समय से उनकी मांगों को अनदेखा किया जा रहा है। यहीं कारण है कि अब पेट्रोल पंप संचालकों ने हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है। उधर, 15 नवंबर को हड़ताल के लिए पंप संचालकों ने एक दिन उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए तैयारियां शुरू कर दी हैं। पेट्रोल व डीजल के टैंकर की भारत पैट्रोलियम में एडवांस बुकिंग करवा रहे हैं, ताकि बंद से पहले लोगों को तेल उपलब्ध कराया जा सके।

Continue Reading

Top News

कल से शुरू होगा गांव बाबा लदाना में 3 दिवसीय मेला, मेले को लेकर डेरे की तैयारियां पूरी

कल से शुरू होगा गांव बाबा लदाना में 3 दिवसीय मेला, मेले को लेकर डेरे की तैयारियां पूरी

Published

ब्यूरो चौथा खंभा न्यूज़ कैथल। गांव बाबा लदाना स्थित डेरा बाबा राजपुरी पर 3 दिवसीय मेला शुक्रवार से लगेगा। रावण दहन के बाद मेले में श्रद्धालु पहुंचना शुरू हो जाएंगे। दो साल बाद बाबा राजपुरी पर लगने वाले मेले की तैयारियां जोरों पर हैं। कोरोना संक्रमण के कारण बीते वर्ष इतिहास में पहली बार बाबा राजपुरी पर मेला नहीं लग पाया था। इस बार भी कोरोना संक्रमण के कारण मेले की कोई अधिकारिक घोषणा नहीं है, लेकिन डेरे के प्रति लाखों श्रद्धालुओं की आस्था के कारण यहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचने की उम्मीद है। इसी को देखते हुए तैयारियां भी शुरू हो गई है। मंदिर को लाइटों से सजाया गया है। मेले के लिए झूले लग चुके हैं। इस बार डेरे की ओर से ही भंडारा लगाया जाएगा। भंडारे के लिए देसी घी के लड्डू तैयार किए जा रहे हैं।

रावण दहन के बाद शुरू होता है मेला

डेरा बाबा राजपुरी पर 3 दिवसीय मेले की शुरुआत दशहरे से होती है। रावण दहन के बाद श्रद्धालु मेले में पहुंचना शुरू होते हैं। विजयदशमी, एकादशी व द्वादशी पर डेरे में मेला लगता है। यहां प्रदेशभर के अलावा पंजाब, राजस्थान, यूपी, गुजरात, छत्तीसगढ़ व केरल से भी श्रद्धालु पूजा पाठ के लिए पहुंचते हैं। डेरे में पशुओं की सुख समृद्धि के लिए पूजा की जाती है। श्रद्धालु दूध व घी का दान करते हैं और काफी श्रद्धालु मनोकामना पूरी होने पर पशुओं को भी दान स्वरूप देकर जाते हैं।

तालाब की सफाई करते सफाईकर्मी

3 दिवसीय मेले पर इस बार बाबा राजपुरी डेरे की ओर से ही भंडारा लगाया जा रहा है। जोकि तीन दिन तक चलेगा। इससे पहले श्रद्धालुओं की ओर से ही भंडारा लगाया जाता था संक्रमण को देखते हुए सेनिटाइज की व्यवस्था मंदिर की ओर से की जाएगी।

डेरे में लगी स्वामी विवेकानंद के गुरु रामकृष्ण परमहंस की तस्वीर

स्वामी विवेकानंद से जुड़ा है इतिहास

डेरा बाबा राजपुरी का इतिहास काफी गौरवमयी है। विश्व में प्रसिद्धि हासिल करने वाले आध्यात्मिक गुरु रामकृष्ण परमहंस के गुरु तोतापुरी इसी डेरे के 7वें महंत थे। रामकृष्ण परमहंस ही स्वामी विवेकानंद के गुरु हैं। वर्तमान में बाबा दूजपुरी डेरा के महंत हैं। महंत दूजपुरी ने बताया कि बाबा राजपुरी के देशभर में 365 धुणे हैं। गांव लदाना में बाबा राजपुरी का जन्म 1690 में हुआ था। जिन्होंने करीब 8 वर्ष की उम्र में ही गांव बात्ता जाकर चोला धारण कर लिया और संत सरस्वती पुरी को अपना गुरु बनाया। बाबा राजपुरी 52 शक्तिपीठ में शामिल माता हिंगलाज को काफी मानते थे। इसके बाद गांव बाबा लदाना में डेरा की स्थापना हुई। आज भी ऐसी मान्यता है कि माता हिंगलाज अष्टमी की रात को डेरे में बने मंदिर में आती है और सैकड़ों साल पुराने जाल के पेड़ पर धागा बांधकर जाती है।

Continue Reading

Top News

कोल्डड्रिंक की मामूली उधारी को लेकर चायवाले का मर्डर

Chaiwala murdered over meager borrowing of cold drink

कैथल । कैथल के तलाई बाजार में मामूली उधारी के लिए एक मर्डर हो गया। जानकारी के अनुसार रितेश नामक व्यक्ति तलाई बाजार में चाय की दुकान चलाता था और अपने परिवार का पेट पालता था।

जब उधारी मांगने गया चायवाला रितेश तो टेलर राजू  ने किया झगड़ा व पेट मे मारी कैंची, इलाज के दौरान मौत

पास में ही एक राजू नामक टेलर की दुकान है। जब चायवाला रितेश सोमवार शाम को टेलर राजू से कोल्डड्रिंक के रुपये मांगने गया तो उनकी रुपये को लेकर कुछ आपस मे कहा सुनी हो गई जिसके बाद राजू ने रितेश के पेट मे कपड़ा काटने वाली कैंची मार दी। गंभीर रूप से घायल रितेश को अस्पताल में भर्ती करवाया गया जिसकी इलाज के दौरान कुछ देर बाद मौत हो गई।

कोल्डड्रिंक की मामूली उधारी को लेकर चायवाले का मर्डर

पुलिस ने पहले 307 का पर्चा दर्ज किया था लेकिन रितेश की मौत के बाद 302 का मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है।
बता दें कि रितेश के परिवार में उनकी पत्नी व एक बच्चा है जिनका अकेला सहारा मृतक  रितेश ही था।

पहले धारा 307 के तहत मामला दर्ज हुआ था आम मौत के बाद 302 का मामला दर्ज : सुरेंद्र कुमार, एसएचओ सिटी थाना
Continue Reading

Featured Post

Top News7 महीना पूर्व

पूछताछ में खुलासा: इंटर स्टेट साइबर फ्राॅड गैंग का गुर्गा गिरफ्तार, एटीएम कार्ड बदलकर फर्जी जनरल स्टाेर के नाम पर ली स्वाइप मशीन से करते थे खाते खाली

पूछताछ में खुलासा: इंटर स्टेट साइबर फ्राॅड गैंग का गुर्गा गिरफ्तार, एटीएम कार्ड बदलकर फर्जी जनरल स्टाेर के नाम पर...

Top News7 महीना पूर्व

आरसी फर्जीवाड़ा:पुलिस कैंसिल करेगी गाड़ियाें का पंजीकरण, मालिकों को दोबारा रजिस्ट्रेशन करा कोर्ट से लेनी होगी गाड़ी

आरसी फर्जीवाड़ा:पुलिस कैंसिल करेगी गाड़ियाें का पंजीकरण, मालिकों को दोबारा रजिस्ट्रेशन करा कोर्ट से लेनी होगी गाड़ी

Top News7 महीना पूर्व

हमला करके गंभीर चोट पहुँचाने व मोबाइल छीनने के चार आरोपी गिरफ्तार

कुरुक्षेत्र। जिला पुलिस कुरुक्षेत्र ने सामूहिक हमला करके गंभीर चोट पहुँचाने व मोबाइल छीनने के चार आरोपियो को गिरफ्तार किया...

Top News8 महीना पूर्व

नशीली दवाईयां बेचने के आरोप में दो गिरफ्तार

Top News9 महीना पूर्व

सिपाही पेपर लीक मामले में 2 लाख रुपए का ईनामी अपराधी मुजफ्फर अहमद सीआईए-1 पुलिस द्वारा जम्मु से गिरफ्तार

सिपाही पेपर लीक मामले में कैथल पुलिस को बडी कामयाबी

Recent Post

Trending

Copyright © 2018 Chautha Khambha News.

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh online Market