Connect with us

त्रिपुरा

रोहिंग्या मुस्लिमों को प्रवेश से रोकने के लिए भारत-म्यांमार सीमा पर सुरक्षा बढाई गई

Published

on

आईजॉल/अगरतला। म्यांमार और बांग्लादेश सीमा से लगे भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में रोहिंग्या मुसलमानों को देश में प्रवेश से रोकने के लिए सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। आईजॉल और अगरतला में तैनात असम राईफल्स और सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि पूर्वोत्तर राज्यों की सीमा के पास अबतक किसी भी अप्रवासी के सीमा पार कर यहां आने की सूचना नहीं है। पूर्वोत्तर में चार राज्य अरुणाचल प्रदेश (520 किलोमीटर), मणिपुर (398 किलोमीटर), मिजोरम (510किलोमीटर), नागालैंड (215किलोमीटर) की खुली सीमा म्यांमार के साथ लगती है। इस 1643 किलोमीटर के बिना घेराबंदी की सीमा पर 16 किलोमीटर भूभाग फ्री जोन है, जिसमें दोनों तरफ आठ-आठ किलोमीटर की सीमाएं शामिल है। असम राईफल्स के पुलिस महानिरीक्षक मेजर जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने संवाददाताओं को आईजॉल में बताया कि सीमांत इलाकों की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद करने के लिए भारत-म्यांमार सीमा पर असम राईफल्स की आठ कंपनियों को तैनात किया गया है।

23 सेक्टर असम राईफल्स के उप महानिरीक्षक ब्रिगेडियर एम.एस.मोखा ने आईजॉल में बताया कि मिजोरम में अब तक रोहिंग्या मुसलमानों की उपस्थिति की कोई सूचना नहीं है। द्विवेदी ने कहा, मिजोरम और अन्य पूर्वोत्तर राज्यों के साथ म्यांमार की सीमा खुली है, इसलिए सुरक्षा बलों को यहां हर वक्त तैनात रखा गया है और रोहिंग्या समुदाय को अवैध रूप से भारत में आने से रोकने के लिए हवा से भी निगरानी रखी जा रही है।

रोहिंग्या संकट के मद्देनजर गुरुवार को 23 असम राईफल्स के आईजॉल स्थित मुख्यालय में कई सुरक्षा अधिकारियों की बैठक आयोजित की गयी थी। बैठक में असम राईफल्स, बीएसएफ, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल और राज्य पुलिस और कई खुफिया एजेंसियों के अधिकारी मौजूद थे। अगरतला में एक बीएसएफ अधिकारी ने कहा कि त्रिपुरा और अन्य पूर्वोत्तर राज्यों में किसी भी रोहिंग्या मुस्लिमों के आने की सूचना नहीं मिली है।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Top News

त्रिपुरा की दो लोकसभा सीटों पर कांग्रेस ने उतारे उम्मीदवार

अगरतला। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर त्रिपुरा की दो लोकसभा सीटों के लिए कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है। वेस्ट त्रिपुरा से सुबल भौमिक और ईस्ट त्रिपुरा से प्रज्ञा देव बर्मन को कांग्रेस पार्टी ने उम्मीदवार बनाया है।

उल्लेखनीय है कि वेस्ट त्रिपुरा सीट से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को चुनाव लड़ाने का पार्टी ने मन बनाया था, लेकिन ऐन मौके पर भाजपा के उपाध्यक्ष पद को छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए सुबल भौमिक को वेस्ट त्रिपुरा से कांग्रेस ने अपना उम्मीदवार बनाया है। प्रज्ञा देव बर्मन त्रिपुरा कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रद्युत किशोर देव बर्मन की बड़ी बहन हैं।

नसीब सैनी / अभिषेक मेहरा

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

बंग्लादेश में पूर्वोत्तर आतंकियों के शिविर पर पुख्ता जानकारी नहीं : BSF

Published

अगरतला। बांग्लादेश में पूर्वोत्तर आतंकवादियों के शिविर हो सकते हैं लेकिन सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के पास इस संबंध में कोई विशेष सूचना नहीं है। एक अधिकारी ने इस बात की जानकारी दी। बीएफएफ के त्रिपुरा सीमांत महानिरीक्षक एस.आर. ओझा ने मंगलवार शाम बताया, ‘‘ पूर्वोत्तर के आतंकवादियों के कुछ शिविर बांग्लादेश में हो सकते हैं लेकिन हमारे पास वहां शिविर होने या उनके छुपे होने की कोई पुख्ता सूचना नहीं है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘बार्डर गार्ड बंग्लादेश (बीजीबी) हमें बहुत सहयोग करता है। कभी-कभी बीएसएफ और बीजीबी के जवान सीमा पार तस्करी के अलावा अपराध, घुसपैठ और अवांछित चहल-पहल पर नजर रखने के लिए सीमा पर संयुक्त गश्त लगाते हैं।’’

ओझा ने कहा कि भारत-बंग्लादेश के बीच 856 किलोमीटर लंबी सीमा है जिसमें लगभग 21 किलोमीटर की सीमा बिना बाड़े की है। इसमें बाड़ लगाने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में 145 किलोमीटर के सीमा क्षेत्र में अतिरिक्त चौकसी बढ़ाने के लिए फ्लडलाइटिंग का इंतजाम किया जा रहा है।

Continue Reading

Featured Post

Top News1 वर्ष पूर्व

रॉबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी पर 5 फरवरी तक जारी रहेगी रोक

---हाईकोर्ट जस्टिस मनोज कुमार गर्ग की कोर्ट ने अधिवक्ता भंवरसिंह मेड़तिया के निधन के बाद कोर्ट में 3.45 बजे रेफरेंस...

Top News1 वर्ष पूर्व

बिजनौर कोर्ट शूटकांड : हाईकोर्ट ने डीजीपी और अपर मुख्य सचिव (गृह) को किया तलब

---दरअसल, बिजनौर में 28 मई को नजीबाबाद में हुई बसपा नेता हाजी अहसान व उनके भांजे शादाब की हत्या के...

Top News1 वर्ष पूर्व

निर्भया केस: दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका खारिज, फांसी की सजा बरकरार

---सुप्रीम कोर्ट ने कहा-पुनर्विचार याचिका में कोई नए तथ्य नहीं, इसलिए ख़ारिज होने योग्य

Top News1 वर्ष पूर्व

कतर टी-10 लीग पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की आईसीसी ने शुरु की जांच

--उल्लेखनीय है कि कतर टी-10 लीग का आयोजन सात से 16 दिसम्बर तक कतर क्रिकेट संघ ने किया था

Top News1 वर्ष पूर्व

बिजनौर कोर्ट रूम में हुई हत्या मामले में चौकी प्रभारी समेत 18 पुलिसकर्मी सस्पेंड

---एसपी ने बताया कि कोर्ट में दिनदहाड़े कुख्यात बदमाश शाहनवाज की हत्या के बाद जजी परिसर में सुरक्षा की पोल...

Recent Post

Trending

Copyright © 2018 Chautha Khambha News.

Web Design BangladeshBangladesh online Market