Connect with us

Top News

खत्म हुआ पुलवामा में तलाशी अभियान, मौके से भागे आतंकी

—जिले के शार खिरयु इलाके में में रविवार देर रात सुरक्षाबलों को आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी

Published

on

पुलवामा,(नसीब सैनी)।

पुलवामा जिले के शार खिरयु इलाके में रविवार रात से आतंकियों की धरपकड़ के लिए चलाया गया अभियान सोमवार देर रात तक समाप्त हो गया है। शुरुआत में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच रविवार रात करीब 15 मिनट तक मुठभेड़ चली जिसके बाद आतंकी अंधेरे का फायदा उठाते हुए भाग निकले। इसके बाद भी उनकी खोजबीन के लिए यह तलाशी अभियान सोमवार देर रात तक जारी रहा।

जिले के शार खिरयु इलाके में में रविवार देर रात सुरक्षाबलों को आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इस पर सेना, पुलिस और सीआरपीएफ की एक संयुक्त टीम ने क्षेत्र की घेराबंदी की और आतंकियों की धर-पकड़ के लिए तलाशी अभियान शुरू किया। रविवार को आधी रात होने पर क्षेत्र में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। कुछ देर चली इस मुठभेड़ के बाद गोलीबारी रूक गई और आतंकी मौके से फरार हो गए। 

इस दौरान सुरक्षाबलों ने आतंकियों का पीछा करते हुए तलाशी अभियान जारी रखा। इस दौरान सुरक्षाबलों ने सोमवार को शार खिरयु में ही नहीं बल्कि इसके साथ सटे इलाकों शार के बागों और खेतों की भी तलाशी ली लेकिन उनके हाथ कुछ नहीं लगा। सोमवार देर रात तक हर एक स्थान खंगालने के बाद सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान समाप्त कर दिया।

नसीब सैनी

Top News

अफसरों के डिजिटल सिग्नेचर कर रिलीज कराए पीएफ के 2.74 करोड़ रिटायर्ड कर्मचारियों के जीवनभर की पूंजी, आईपीएल सट्टा में हार गया क्लर्क

जनस्वास्थ्य विभाग से रिटायर्ड कर्मचारियों की जमा पूंजी के पौने तीन करोड़ रुपये स्थापना शाखा क्लर्क सुनील कुमार आईपीएल में सट्टा लगाकर हार गया।

Published

जनस्वास्थ्य विभाग से रिटायर्ड कर्मचारियों की जमा पूंजी के पौने तीन करोड़ रुपये स्थापना शाखा क्लर्क सुनील कुमार आईपीएल में सट्टा लगाकर हार गया। इसके बाद एक महीने से फरार क्लर्क को पुलिस ने सोमवार को बस स्टैंड नजदीक से दबोच लिया। आरोपी गिरफ्तारी से बचने के लिए एक महीने से फरीदाबाद किराये का मकान लेकर रह रहा था। पुलिस ने मंगलवार सुबह आरोपी को न्यायालय में पेश कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

आरोपी क्लर्क सुनील कुमार।

रिटायर्ड कर्मियों की जगह ट्रेजरी में दिए पत्नी-साले के अकाउंट नंबर……जनस्वास्थ्य विभाग में अधिकारियों के डिजिटल सिग्नेचर ऑनलाइन डोंगल से होते हैं। इसी का क्लर्क सुनील कुमार ने फायदा उठाया। जो कर्मचारी पिछले वर्ष रिटायर हुए थे, उन सब के पीएफ में जमा पूंजी निकलवाने के लिए सुनील ने डोंगल से अधिकारियों के डिजिटल सिग्नेचर फार्म पर कर लिए। इसके बाद यह फाइल उसने खजाना कार्यालय में जमा करवा दी। इसके बाद यह रुपये खजाना कार्यालय से रिलीज करवा कर बैंक में डलवा लिए। जहां आरोपी क्लर्क ने रिटायर्ड कर्मचारियों के बैंक अकाउंट की जगह दूसरे बैंक अकाउंट में यह राशि डलवा कर निकाल ली।

2.42 करोड़ रुपये पत्नी और 32 लाख साले के खाते में डलवाए थे, बाद में दोनों खातों से निकाली रकम….पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि क्लर्क सुनील कुमार ने रिटायर्ड कर्मचारियों के 2 करोड़ 74 लाख रुपये अपनी पत्नी व साले के अकाउंट में डलवाए थे। पत्नी और साले का अकाउंट रेवाड़ी जिले के मीरपुर स्थित बैंक में खुलवाया हुआ था। इनमें पत्नी सोनम के खाते में 2 करोड़ 42 लाख रुपये और साले तनुज के खाते में 32 लाख रुपये डलवाए। इसके बाद सुनील ने दोनों खातों से रुपये निकाल लिए।

तत्कालीन एक्सईएन ने जांच के बाद दी थी आरोपी के खिलाफ शिकायत…..जनस्वास्थ्य विभाग के तत्कालीन एक्सईएन दलबीर सिंह दलाल ने रिटायर्ड कर्मचारियों की शिकायत पर मामले की जांच करवाई थी। इसके लिए तीन अधिकारियों की कमेटी बनाई गई थी। इसके बाद मामले का खुलासा हुआ तो एक्सईएन ने खुद क्लर्क के खिलाफ पुलिस को शिकायत दी थी। 21 सितंबर को सिटी थाना पुलिस ने क्लर्क सुनील कुमार पर केस दर्ज कर लिया था।

शातिर ने बैंक खाते फ्रीज करवाने से पहले निकाल लिए थे सारे रुपये…. रिटायर्ड कर्मचारियों के 2 करोड़ 74 लाख रुपये क्लर्क सुनील कुमार ने अपनी पत्नी व साला के बैंक अकाउंट में डलवाई थी। ऐसे में मामले को खुलासा होते ही जनस्वास्थ्य विभाग अधिकारी ने इन दोनों अकाउंट सहित क्लर्क के अकाउंट को भी फ्रीज करवा दिया था। मगर इससे पहले आरोपी क्लर्क अपने तीनों अकाउंट से रुपये निकाल चुका था।

उम्रभर की बचत लेकर हो गया था चंपत…. जनस्वास्थ्य विभाग से रिटायर्ड कर्मचारी जोगेंद्र सिंह, रविंद्र सिंह व नूरहसन ने बताया कि वह पिछले वर्ष अगस्त और दिसंबर में रिटायर हुए थे। अक्सर वह कार्यालय की स्थापना शाखा क्लर्क सुनील कुमार के चक्कर लगाकर पीएफ के रुपये निकलवाने का आग्रह कर रहे थे। इस दौरान वह उन्हें जल्द रुपये दिलाने की बात कहकर टरका देता था। इसके बाद उन्होंने एक्सईएन को शिकायत देकर जांच की मांग उठाई थी। इसके बाद जाकर मामले का खुलासा हुआ। कर्मचारियों ने बताया कि पिछले वर्ष कई कर्मचारी रिटायर हुए थे, जिनके रुपये अभी तक नहीं मिले हैं।

आरोपी सट्‌टे में हार चुका पूंजी: आईओ…. आरोपी क्लर्क को गिरफ्तार कर लिया गया है। न्यायालय में पेश कर आरोपी को पांच दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है। पूछताछ में आरोपी क्लर्क ने बताया है कि उसने रिटायर्ड कर्मचारियों के रुपये निकाल कर आईपीएल मैचों में सट्टा लगाया था, जो वह हार गया। पुलिस ने मामले में कार्रवाई शुरू कर दी है।” – भीम सिंह, एएसआई, सिटी थाना।

Continue Reading

Top News

अनोखा ऑफर: चंडीगढ़ के ऑटो ड्राइवर अनिल बोले- भारत-पाक मैच में टीम इंडिया की जीत के बाद सवारियों को फ्री में घुमाएंगे शहर

अनिल कुमार नाम के ऑटो चालक ने पाकिस्तान का साथ मैच में टीम इंडिया के जीतने पर अगले दिन यानि 25 अक्टूबर को पूरा दिन सवारियों को फ्री सफर कराने का ऐलान किया

Published

टी- 20 वर्ल्ड कप शुरू हो चुका है। भारत अपना पहला मुकाबला 24 अक्टूबर रविवार को पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगा। इस मैच का लोकर बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। इस बीच चंडीगढ़ में एक ऑटो चालक में भारत-पाकिस्तान मैच को लेकर अनोखे ऑफर की घोषणा की है। अनिल कुमार नाम के ऑटो चालक ने पाकिस्तान का साथ मैच में टीम इंडिया के जीतने पर अगले दिन यानि 25 अक्टूबर को पूरा दिन सवारियों को फ्री सफर कराने का ऐलान किया। इसके लिए अनिल कुमार ने अपने ऑटो पर फ्री राइड का एक पोस्टर भी चिपका लिया है।

ऑटो ड्राइवर अनिल

सवारियों इस सुविधा का फायदा 25 अक्टूबर को सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे उठा सकती हैं। अनिल ने बताया कि भारत की जीत के अगले दिन 25 अक्टूबर को उनके ऑटो में कोई भी सवारी चंडीगढ़ के किसी भी कोने तक फ्री जा सकती है। उनका प्रयास भारतीय किक्रेट टीम के मनोबल को बढ़ाना और ज्यादा से ज्यादा लोगों को उससे जोड़ना है। उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट मैच को देखने के लिए दुनिया भर के लोग उत्साहित रहते हैं। ऐसे में मेरा यह प्रयास अपनी टीम को सपोर्ट करने के लिए है। शहर में भी किक्रेट के प्रति खासा क्रेज रहता है। ऐसे बड़े मुकाबले के लिए शहर में बड़ी-बड़ी स्क्रीनें तक लगाई जाती हैं। लंबे समय के बाद भारत-पाकिस्तान एक मैदान में दिखेंगे। ऐसे में पूरे भारत को टीम इंडिया को प्रोत्साहित करना चाहिए।

अनोखा ऑफर

ओलिंपिक में गोल्ड मेडल मिलने पर भी दी थी फ्री राइड
टोक्यो ओलिंपिक 2020 में देश के लिए नीरज चोपड़ा ने जेवलिन में स्वर्ण पदक जीता था। उससे अगले दिन भी अनिल ने फ्री राइड का ऑफर दिया था। उस दिन शहर में यूपीएससी का एग्जाम था, जिसके चलते अनिल ने 150 से ज्यादा स्टूडेंट्स को बस स्टैंड सेक्टर-17 से फ्री सफर करवाते हुए सेक्टर-11, सेक्टर-16, सेक्टर-23 में बने परीक्षा केंद्र तक छोड़ा था।

सैनिक और गर्भवती महिलाओं को करवाते हैं फ्री सफर
अनिल शहर का ऐसा पहला ऑटो ड्राइवर है, जोकि भारतीय सैनिक और गर्भवती महिलाओं से ऑटो में सफर करने के कोई पैसे नहीं लेता। इसके अलावा उन्होंने कोरोना काल में मेडिकल स्टाफ को भी फ्री सफर करवाया था।

Continue Reading

Top News

हरियाणा में डेंगू का असर : 2381 मरीज, 70 से ज्यादा मौत,, डॉक्टर की सलाह- सिर्फ 5 सावधानियां बरतें

कुछ ही इलाकों में धुआं उडाकर मच्छर को खदेडने के प्रयास हो रहे हैं। इसलिए जरूरी है कि आम आदमी इसके प्रति जागरूक हों और मच्छर को न पनपने दें।

Published

हरियाणा में डेंगू ने काफी पांव पसार लिए हैं। डेंगू के बुखार से अब तक 70 से ज्यादा मौत होने की पुष्टि हो चुकी है। हालात यह हैं कि रफ्ता-रफ्ता राज्यभर के अस्पताल डेंगू पीडितों से भर रहे हैं। हालांकि डेंगू के मरीज बढ़ते ही स्वास्थ्य विभाग सक्रिय हुआ, लेकिन अभी बीमारी पर नियत्रंण नजर नहीं आ रहा है। राज्य में डेंगू के करीब 2500 रोगी मिल चुके हैं। सबसे ज्यादा खराब हालात पंचकूला की है, जहां सर्वाधिक 297 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। सिरसा में डेंगू मरीजों का आकंडा 200 के पार है तो गुरुग्राम में 166 मरीज मिले हैं। कई जिलों में 100 से ज्यादा मरीजों की पुष्टि हुई है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के हाथ-पैर फूले हुए हैं, क्योंकि सरकारी अमले के पास मच्छर से निपटने को पूरे अस्त्र-शस्त्र ही नहीं हैं। महज कुछ ही इलाकों में धुआं उडाकर मच्छर को खदेडने के प्रयास हो रहे हैं। इसलिए जरूरी है कि आम आदमी इसके प्रति जागरूक हों और मच्छर को न पनपने दें।

एक सितंबर को 40 केस, 17 अक्टूबर तक 2381
हरियाणा में कोरोना के दौर में डेंगू के मामलों में कई गुना वृद्धि हो चुकी है। प्रदेश में एक सितंबर को डेंगू के महज 40 मामले थे, जो 17 अक्टूबर तक 2381 तक पहुंच गए हैं। राज्य में कोरोना संक्रमण के दैनिक मामलों से कई गुना ज्यादा डेंगू के मामले रोजाना सामने आ रहे हैं। पंचकूला, सिरसा, फरीदाबाद, नूंह, गुरुग्राम, सोनीपत, महेन्द्रगढ़, कैथल, करनाल, फतेहाबाद व अंबाला में भी डेंगू पैर पसार चुका है। स्वास्थ्य विभाग सक्रिय है, लेकिन कोरोना पर फोकस के चलते स्वास्थ्य विभाग इस बीमारी के लिए योजना तैयार नहीं कर सका।

मच्छर की दो प्रजातियां फैलाती हैं डेंगू……डेंगू बुखार मच्छरों द्वारा फैलाए जाने वाले 4 तरह के वायरस के कारण होता है। इनमें सभी वायरस एडीज एजिप्टी या फिर एडीज एल्बोपिक्टर मच्छर की प्रजातियों के जरिए फैलते हैं। डेंगू वायरस में अलग-अलग सेरोटाइप भी शामिल होते हैं। जो जीन्स फ्लेवीवायरस, फैमिली फ्लेविविरिडे से संबंधित हैं। वैसे तो एडीज एजिप्टि मच्छर अफ्रीका में पैदा हुआ था, लेकिन अब ये दुनियाभर के कई क्षेत्रों में पाया जाता है।

दो तरह का होता है डेंगू बुखार…….सिकल बुखार: बुखार होने पर उल्टी करने का मन करता है, जोड़ों में दर्द होने लगता है और शरीर तप जाता है। हालांकि यह बुखार सामान्य माना जाता है, लेकिन तीन दिन तक अगर बुखार में आराम न हो और स्थिति ज्यों की त्यों बनी रहे तो इंसान के लिए घातक सिद्ध होता है। बुखार होते ही डॉक्टर से जांच करवाएं और सभी प्रकार के टेस्ट बिना किसी देरी के करवाएं।

हेमरेजिक बुखार: यह बुखार होने पर शरीर पर लाल और गुलाबी निशान पड़ जाते हैं। डॉक्टर इस बुखार को डेंगू की खतरनाक स्टेज मानते हैं। प्लेटलेट्स कम होने पर नाक से खून बहना और खून की उल्टी होना इसके लक्षण होते हैं। सामान्य तौर पर डेंगू होने के कई दिन बाद यह स्थिति पैदा होती है। समय पर इलाज शुरू नहीं करवाने से यह स्टेज आती है। इसके बाद डॉक्टर्स द्वारा शरीर में खून के प्लेटलेट्स चढ़ाने की प्रक्रिया शुरू की जाती है।

ऐसा होता है डेंगू फैलाने वाला मच्छर

  • डेंगू बुखार एडीज नाम के मादा मच्छर के काटने से होता है।
  • इन मच्छरों के शरीर पर धारियां होती हैं।
  • इन मच्छरों की खास बात यह होती है कि इनकी आयु केवल दो सप्ताह ही होती है।
  • तरह के फ्लेवीवाइराइड वायरस शरीर में जाने से डेंगू होता है और मादा एडीज मच्छर इस वायरस के वाहक हैं।
  • ये मच्छर साफ पानी में पनपते हैं।
  • ये मच्छर आम मच्छरों के मुकाबले आकार में बड़े होते हैं।

सरकारी अस्पतालों में प्लेटलेट्स की मुफ्त प्रक्रिया…….स्वास्थ्य विभाग ने डेंगू के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जहां सरकारी अस्पतालों में मरीजों को मुफ्त इलाज और सरकारी अस्पतालों में प्लेटलेट्स की मुफ्त प्रक्रिया शुरू की है। वहीं निजी अस्पतालों से प्लेटलेट्स की व्यवस्था के लिए दरें भी निर्धारित की हैं। जिलों में स्वास्थ्य विभाग की मोबाइल टीमें गठित की गई हैं, जो लगातार मच्छरों के प्रजनन और विकास की जांच करने के साथ मच्छरों को भगाने के मकसद नियमित फॉगिंग करा रही हैं।

400 रुपए लीटर मिल रहा बकरी का दूध……. प्रदेश में डेंगू मच्छर का प्रकोप जिस प्रकार बढ़ रहा है, उसके साथ बकरी के दूध की मांग भी बढ़ने लगी है। जिलों से खबर आ रही है कि 50 रुपए लीटर मिलने वाला दूध अब 300 से 400 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से मिल रहा है। मान्यता है कि बकरी का दूध मानव शरीर में प्लेटलेट्स बढ़ाने में फायदेमंद है, जबकि चिकित्सक इस बात को नकारते रहे हैं।

Continue Reading

Featured Post

Top News5 दिन पूर्व

हमला करके गंभीर चोट पहुँचाने व मोबाइल छीनने के चार आरोपी गिरफ्तार

कुरुक्षेत्र। जिला पुलिस कुरुक्षेत्र ने सामूहिक हमला करके गंभीर चोट पहुँचाने व मोबाइल छीनने के चार आरोपियो को गिरफ्तार किया...

Top News2 सप्ताह पूर्व

नशीली दवाईयां बेचने के आरोप में दो गिरफ्तार

Top News1 महीना पूर्व

सिपाही पेपर लीक मामले में 2 लाख रुपए का ईनामी अपराधी मुजफ्फर अहमद सीआईए-1 पुलिस द्वारा जम्मु से गिरफ्तार

सिपाही पेपर लीक मामले में कैथल पुलिस को बडी कामयाबी

Top News2 महीना पूर्व

फेसबुक फ्रॉड से बचने के लिए कैथल पुलिस ने जारी की एडवाईजरी

कैथल, 01 सितंबर । प्राय: देखने में आ रहा है कि आजकल हैकर फेसबुक अकाउंट हैक करके उनके परिचितो से...

Top News2 महीना पूर्व

कैथल पुलिस के दो ASI रैंक के पुलिस अधिकारियों ने एक बार फिर से खाकी को किया दागदार

ASI रेंक दो पुलिस कर्मियों पर हुई बड़ी कार्यवाही कैथल महिला पुलिस ASI सुदेश व ASI राजकुमार के खिलाफ FIR...

Recent Post

Trending

Copyright © 2018 Chautha Khambha News.

Web Design BangladeshBangladesh online Market