Connect with us

Top News

हनीट्रैप मामले की जांच के लिए बनी एसआईटी के चीफ तीसरी बार बदले

—राज्य शासन ने देर रात पुलिस विभाग में किया बड़ा फेरबदल

Published

on

भोपाल,(नसीब सैनी)।

राज्य शासन ने मंगलवार रात पुलिस विभाग में बड़ी सर्जरी की है। इसके साथ ही बहुचर्चित हनी ट्रैप मामले की जांच के लिए 9 दिन पहले बनी एसआईटी में भी तीसरी बार बदलाव कर दिया गया है। हनी ट्रैप केस की जांच के लिए राज्य सरकार ने अब डीजी स्तर के सीनियर आईपीएस अधिकारी राजेंद्र कुमार को एसआईटी का जिम्मा सौंपा है। राजेंद्र कुमार 1985 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। उनसे पहले संजीव शमी इसके प्रमुख थे, जिन्हें बदलकर पुलिस भर्ती एवं एंटी नक्सल ऑपरेशन में भेजा गया है। 

मंगलवार की देर शाम मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्य सचिव एसआर मोहंती और डीजीपी वीके सिंह से इस बारे में चर्चा करने के बाद एसआईटी को बदला है। राजेंद्र कुमार के साथ एसआईटी टीम में एडीजी सायबर क्राइम मिलिंद कानस्कर और एसएसपी इंदौर रुचि वर्धन मिश्र रहेंगी। टीम की कमान संभालने वाले राजेंद्र कुमार को यह अधिकार दिए गए हैं, वे अगर आवश्यक होगा तो अन्य अधिकारियों की मदद ले सकेंगे। डीजीपी को एसआईटी को आवश्यक सहयोग देने के आदेश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इसके साथ ही कुछ और सीनियर आईपीएस अधिकारियों के कामकाज में परिवर्तन किया है। उन्होंने पुलिस अफसरों के विवादों के बीच बड़ी सर्जरी में तीन वर्ष से ज्यादा एक स्थान पर पदस्थ वरिष्ठ अफसरों को भी बदल दिया है। स्पेशल डीजी सायबर सेल व एसटीएफ प्रमुख पुरुषोत्तम शर्मा को भी डीजीपी से विवाद के चलते हटाया गया है। उन्हें संचालक लोक अभियोजन का जिम्मा दिया गया है। वे राजेंद्र कुमार की जगह पर जाएंगे। बड़ी सर्जरी में राज्य सरकार ने लंबे समय तक परिवहन आयुक्त रहे शैलेंद्र श्रीवास्तव को पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन की जवाबदारी दी है। 

इसके अलावा केएन तिवारी स्पेशल डीजी,ईओडब्ल्यू को स्पेशल डीजी, चयन एवं भर्ती, पुरुषोत्तम शर्मा स्पेशल डीजी, सायबर एवं एसटीएफ को संचालक, लोक अभियोजन, एडीजी, योजना पवन जैन को एडीजी लोकायुक्त संगठन, एडीजी, इंटेलीजेंस-कैलाश मकवाना को एडीजी प्रशासन, एडीजी आरएपीटीसी-मिलिंद कानस्कर को एडीजी सायबर, एडीजी एंटी नक्सल ऑपरेशन-जीपी सिंह को एडीजी एससीआरबी, एडीजी लोकायुक्त संगठन-सुशोभन बनर्जी को प्रभारी डीजी ईओडब्ल्यू, एडीजी प्रशासन-एसडब्ल्यू नकवी को एडीजी इंटेलीजेंस, एडीजी, लोकायुक्त संगठन-वी मधुकुमार को आयुक्त परिवहन, एडीजी सायबर-राजेश गुप्ता को एडीजी एटीएस, एडीजी एससीआरबी-आदर्श कटियार को एडीजी व आईजी भोपाल, एडीजी एटीएस-संजीव शमी को एडीजी चयन एवं भर्ती, आईजी भोपाल-योगेश देशमुख को आईजी प्रशासन की कमान सौंपी गई है। 

जिन अधिकारियों को प्रमोशन मिला है उनमें आईजी लॉ एंड ऑर्डर-अनंत कुमार सिंह को एडीजी योजना, आईजी होशंगाबाद-आशुतोष राय को एडीजी व आईजी होशंगाबाद, आईजी ग्वालियर-राजाबाबू सिंह को एडीजी व आईजी ग्वालियर, आईजी चंबल-डीपी गुप्ता को एडीजी व आईजी चंबल और शैलेष सिंह ओएसडी मुंबई पदस्थ किया गया है।

नसीब सैनी

Top News

ITBP सब इंस्पेक्टर के खाते से 2.59 लाख उड़ाए: हिमाचल से लौटते समय बस में चोरी हुआ ATM कार्ड और मोबाइल; एक चूक से पकड़ा गया बदमाश

सब इंस्पेक्टर हिमाचल के रहने वाले है और रेवाड़ी के जाटूसाना स्थित आईटीबीपी के कैंप में तैनात है। रेवाड़ी बस स्टैंड चौकी पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

Published

बस स्टैंड चौकी पुलिस ने एक नामजद शख्स के खिलाफ केस दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है।

हरियाणा के रेवाड़ी में ITBP में तैनात सब इंस्पेक्टर का मोबाइल फोन व ATM कार्ड चोरी कर उनके खाते से 2 लाख 59 हजार रुपए साफ कर दिए। सब इंस्पेक्टर हिमाचल के रहने वाले है और रेवाड़ी के जाटूसाना स्थित आईटीबीपी के कैंप में तैनात है। रेवाड़ी बस स्टैंड चौकी पुलिस ने पीड़ित की शिकायत पर विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

मिली जानकारी के अनुसार, हिमाचल के अवैरी बैजनाथ निवासी रमेश चंद ITBP में रेवाड़ी के जाटूसाना स्थित कैंप में सब इंस्पेक्टर के पद पर तैनात है। रमेश चंद ने बताया कि कुछ समय पहले वह छुट्‌टी पर घर गए थे। छुट्टी खत्म होने के बाद वह ड्यूटी ज्वॉइन करने के लिए 28 दिसंबर को रेवाड़ी बस स्टैंड पहुंचे थे। बस स्टैंड से जाटूसाना जाने के लिए बस में सवार होते समय किसी ने भीड़ में उनका एटीएम व मोबाइल चोरी कर लिया। उसके बाद मोबाइल व एटीएम के जरिए ही खाते से 259000 हजार रुपए निकाल लिए।

जांच करने पर आरोपी की पहचान जाटव मोहल्ला रामपुरा निवासी लोकेश पालिया के रूप में हुई। जिसमें 20200 रुपए अपने अकाउंट में ड्रांसफर किए जबकि एक लाख रुपए खाते से निकाले गए। बाकी लेनदेन पेटीएम से किया गया। पूरी जानकारी हासिल करने के बाद रमेश चंद ने इसकी शिकायत बस स्टैंड चौकी पुलिस को दी। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी लोकेश पालिया की तलाश शुरू कर दी है। गुरुवार को पुलिस ने लोकेश के घर दबिश भी दी, लेकिन वह नहीं मिला। बस स्टैंड चौकी पुलिस के अनुसार जल्द ही आरोपी को पकड़ लिया जाएगा।

Continue Reading

Top News

पानीपत में रोका बाल विवाह: लड़का और लड़की दोनों थे नाबालिग, शपथ पत्र लेकर फिलहाल रोकी गई शादी

लड़का व लड़की दोनों के स्कूली दस्तावेजों की जांच की गई तो लड़की की उम्र 16 साल व लड़के की उम्र 19 साल पाई गई। दोनों ही अभी शादी के योग्य नहीं थे। परिवार वालों से शपथ पत्र लेकर फिलहाल इस शादी को रोक दिया गया है।

Published

मामले की पूछताछ करती बाल विवाह निषेध अधिकारी रजनी गुप्ता।

हरियाणा के पानीपत जिले के एक गांव में बाल विवाह निषेध अधिकारी रजनी गुप्ता ने बाल विवाह रुकवाया है। अधिकारी ने सूचना के आधार पर इस कार्रवाई को किया। लड़का व लड़की दोनों के स्कूली दस्तावेजों की जांच की गई। जिसमें लड़की की उम्र 16 साल व लड़के की उम्र 19 साल पाई गई। दोनों ही अभी शादी के योग्य नहीं थे। परिवार वालों से शपथ पत्र लेकर फिलहाल इस शादी को रोक दिया गया है। दोनों पक्षों से शपथ पत्र लेकर फिलहाल शादी पर रोक लगा दी है। वहीं 4 जनवरी को कोर्ट खुलने के बाद मामला कोट के संज्ञान में लाकर आगामी कार्रवाई की जाएगी।

बाल विवाह निषेध अधिकारी रजनी गुप्ता के अनुसार

जानकारी देते हुए बाल विवाह निषेध अधिकारी रजनी गुप्ता ने बताया कि उन्हें सूचना प्राप्त हुई की गांव नवादा पार में एक नाबालिग लड़की की शादी होनी है। सूचना मिलने पर वह टीम के साथ मौके पर पहुंचे और वहां जाकर लड़की पक्ष से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान लड़की के सभी दस्तावेज चेक किए गए। लड़की के स्कूल के दस्तावेजों में उसकी जन्मतिथि मार्च 2005 की मिली। यानी दस्तावेजों के आधार पर लड़की अभी महज 16 साल की थी। इसके बाद लड़के पक्ष को फोन पर बात कर अपने कार्यालय बुलाया। जहां लड़का पक्ष मौजूद हुआ और लड़के के दस्तावेजों को चेक किया गया, जिसमें लड़का भी नाबालिग पाया गया। लड़के की उम्र दस्तावेजों के आधार पर 19 साल थी।

इन कारणों से हो रही थी बाल विवाह
लड़की के पिता ने बताया कि वह पेशे से श्रमिक हैं। यह अपनी बेटी की शादी गरीबी और अज्ञानता के चलते कर रहे थे। साथ ही वह खुद हार्ट पेशेंट है, उनकी तमन्ना थी कि उनके जीते जी उनकी बेटी की शादी हो जाए। वही लड़के पक्ष से लड़के का कहना है कि उसकी चार बड़ी बहने हैं, जो कि चारों विवाहित हैं। तीन भाई व एक छोटी बहन है। अब घर में कोई रोटी बनाने वाला नहीं था, क्योंकि मां की तबीयत सही नहीं रहती है। इसी के चलते वह शादी कर रहा था।

Continue Reading

Top News

बालिग हूं, मेरी मर्जी जहां जाऊं: थाने में युवक संग जाने को अड़ी 19 वर्षीय छात्रा, दो दिन पहले गई थी साथ

युवती ने पुलिस से साफ कह दिया कि वह युवक के साथ ही जाएगी। पुलिस और परिजनों के सामझाने पर वह नहीं मानी। छात्रा ने परिजनों की सब दलीलों को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि मैं बालिग हूं, मेरी मर्जी जहां जाऊं।

Published

मामले में थाना लाखन माजरा पुलिस कर रही जांच

हरियाणा के रोहतक के जिले में कॉलेज से दो दिन पहले एक युवक संग गई युवती को पुलिस ने बरामद कर लिया। हालांकि युवती ने पुलिस से साफ कह दिया कि वह युवक के साथ ही जाएगी। पुलिस और परिजनों के सामझाने पर वह नहीं मानी। छात्रा ने परिजनों की सब दलीलों को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि मैं बालिग हूं, मेरी मर्जी जहां जाऊं।

कॉलेज गई थी प्रवेश पत्र लेने
लाखन माजरा थाना क्षेत्र के एक गांव से छात्रा मंगलवार सुबह कॉलेज के लिए यह कहकर निकली थी कि आगामी परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र लेने जा रही हूं। उसके वापस न लौटने पर परिजनों ने काफी खोज खबर की।रातभर छात्रा की खोज-खबर करने के बाद बुधवार सुबह पुलिस को सूचना दी। छात्रा के पिता ने थाना लाखन माजरा में बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने छात्रा व युवक को वीरवार दोपहर गिरफ्तार कर लिया। दोनों को थाना लाया गया। यहां छात्रा ने युवक संग जाने की रट लगा दी।

कोर्ट में होंगे पेश
मामले में थाना लाखन माजरा एसएचओ अब्दुल्ला खान का कहना है कि छात्रा बालिग है। छात्रा व युवक को कोर्ट में पेश किया जाएगा। वहां उनके बयानों के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। युवक व छात्रा को कोर्ट ले जाने की तैयारी की जा रही है।

Continue Reading

Featured Post

Top News11 महीना पूर्व

पूछताछ में खुलासा: इंटर स्टेट साइबर फ्राॅड गैंग का गुर्गा गिरफ्तार, एटीएम कार्ड बदलकर फर्जी जनरल स्टाेर के नाम पर ली स्वाइप मशीन से करते थे खाते खाली

पूछताछ में खुलासा: इंटर स्टेट साइबर फ्राॅड गैंग का गुर्गा गिरफ्तार, एटीएम कार्ड बदलकर फर्जी जनरल स्टाेर के नाम पर...

Top News11 महीना पूर्व

आरसी फर्जीवाड़ा:पुलिस कैंसिल करेगी गाड़ियाें का पंजीकरण, मालिकों को दोबारा रजिस्ट्रेशन करा कोर्ट से लेनी होगी गाड़ी

आरसी फर्जीवाड़ा:पुलिस कैंसिल करेगी गाड़ियाें का पंजीकरण, मालिकों को दोबारा रजिस्ट्रेशन करा कोर्ट से लेनी होगी गाड़ी

Top News11 महीना पूर्व

हमला करके गंभीर चोट पहुँचाने व मोबाइल छीनने के चार आरोपी गिरफ्तार

कुरुक्षेत्र। जिला पुलिस कुरुक्षेत्र ने सामूहिक हमला करके गंभीर चोट पहुँचाने व मोबाइल छीनने के चार आरोपियो को गिरफ्तार किया...

Top News12 महीना पूर्व

नशीली दवाईयां बेचने के आरोप में दो गिरफ्तार

Top News1 वर्ष पूर्व

सिपाही पेपर लीक मामले में 2 लाख रुपए का ईनामी अपराधी मुजफ्फर अहमद सीआईए-1 पुलिस द्वारा जम्मु से गिरफ्तार

सिपाही पेपर लीक मामले में कैथल पुलिस को बडी कामयाबी

Recent Post

Trending

Copyright © 2018 Chautha Khambha News.

%d bloggers like this:
Web Design BangladeshBangladesh online Market